अमिताभ बच्चन ने फिर साधा ट्रोलर्स पर निशाना, ट्वीट कर बोले- ‘दुर्जनों के वचन से सज्जनों का गौरव कम नहीं होता’ | bollywood – News in Hindi

0
3

मुंबई. महानाय‍क अमिताभ बच्‍चन (Amitabh Bachchan) और बेटा अभिषेक बच्चन (Abhishek Bachchan) 11 जुलाई को कोरोना संक्रमित पाए जाने के बाद नानावती अस्पताल (Nanawati Hospital) में भर्ती हैं. दोनों कोरोना की जंग लड़ रहे हैं. सोशल मीडिया (Social Media) पर जहां उनके फैंस उनके जल्द ठीक होने की कामना कर रहे हैं, वहीं कुछ लोग ऐसे भी हैं जो उनके बारे में सोशल मीडिया पर अपशब्द कह रहे हैं. हाल ही में उन्होंने ऐसे ही ट्रोलर की क्लास लगाई थी. आज फिर उन्होंने एक ट्वीट किया, जिसमें उन्होंने फिर ट्रोलर्स पर निशाना साधा है.

अमिताभ बच्‍चन (Amitabh Bachchan) सोशल मीडिया के माध्‍यम से लगातार अपने प्रशंसकों से जुड़े हैं. अब उनका एक और ट्वीट तेजी से सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है. अमिताभ बच्‍चन ने ट्वीट किया- ‘दुर्जनों के वचन से सज्जनों का गौरव कम नहीं होता. पृथ्वी की धूलि से ढके हुए रत्न की बहुमूल्यता कभी नष्ट नहीं होती’.

अमिताभ की इस पोस्ट पर लोग काफी प्रतिक्रिया दे रहे हैं. ये पहली बार नहीं है, जब उन्होंने ट्रोलर्स सपर ऐसे निशाना साधा हो, इससे पहले उन्होंने अपने ब्लॉग में एक बेनाम ट्रोलर को आड़े हाथों लिया था. उन्होंने अपने ब्लॉग में लिखा- मिस्टर गुमनाम… आप अपने पिता का नाम भी नहीं लिखते. क्योंकि आप नहीं जानते कि आप किसकी पैदाइश हैं? यहां सिर्फ दो ही चीजें हो सकती हैं या तो मैं मर जाऊंगा या जीवित रहूंगा. अगर मैं मर गया तो तुम फिर सेलिब्रिटी के नाम पर टिप्पणी नहीं कर पाओगे. तुम्हारे कमेंट पर अभी इसलिए ध्यान दिया गया, क्योंकि तुमने अमिताभ बच्चन पर कटाक्ष किया था, जो कि बाद में नहीं होगा. उन्होंने आगे लिखा- भगवान की कृपा से अगर मैं जीवित रहा और सर्वाइव कर गया तो तुम्हे कटाक्ष के एक तूफान का सामना करना पड़ेगा. न केवल मेरी ओर से, बल्कि मेरे 90 मिलियन से ज्यादा फॉलोअर्स की ओर से भी, मैंने अभी उन्हें बताया नहीं है. लेकिन अगर मैं सर्वाइव कर गया तो मैं उन्हें बता दूंगा और मैं तुम्हे बता दूं कि वे एक सेना है. उन्होंने पूरी दुनिया नापी है. पश्चिम से पूर्व और उत्तर से दक्षिण और वे सिर्फ इस पेज पर मेरी एक्सटेंडेड फैमिली नहीं है, आंख के एक इशारे पर यह एक्सटेंडेड फैमिली तबाही मचाने वाले परिवार में बदल जाएगी. मैं उन्हें कहूंगा ठोक दो सा** को.

उन्होंने अपने ब्लॉग के अंत में लिखा- मारीच, अहिरावन , महिषासुर, असुर , उपनाम हो तुम, हमारा यज्ञ प्रारम्भ होते ही, तुम राक्षसों की तरह तड़पोगे , जान लो इतना कि अब तुम ही केवल समाज की आवाज न हो, चरित्रहीन, अविश्वासी , श्रद्धाहीन , लीचड़ तुम हो, जलो गलो पिघलो , बेशर्म , बेहया , निर्लज्ज, समाज कलंकी … तुम अपनी लगाई आगे में खुद जल जाओगे.



Source

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें